f Class 10 Hindi Grammar Assam | 2021 | Class X ~ Daily Assam

Class 10 Hindi Grammar Assam | 2021 | Class X


   व्याकरण   



1. लिंग:

(क) लिंग किसे कहते हैं?
उत्तर: स्त्री और पुरुष जाति की सूचना देने वाले तत्वं को व्याकरण में लिंग कहा जाता है। अर्थात जिस संज्ञा शब्द से व्यक्ति की जाति का पता चलता है उसे लिंग कहते हैं। लिंग के आधार पर लड़का पुलिंग है और लड़की स्त्रीलिंग। जैसे:-
     पुरुष जाति में-               
     लड़का, बैल, घोड़ा, मोर आदि।

     स्त्री जाति में-
     लड़की, गाय, घोड़ी, मोरनी आदि।



(ख) लिंग परिवर्तन करो:
 
       नर - नारी          2020 HSLC
       मामा - मामी      2020
       बंदरी - बंदर       2020
       
      Important for 2021:
      
      बूढ़ा - बुढ़िया
      सिंह - सिंहनी
      दुलहिन - दूल्हा
      सभापति - सभानेत्री
      नर कौवा - मादा कौवा
      गायक - गायिका
      लेखक - लेखिका
      कवि - कवियत्री
      बैल - गाय
      सेवक - सेविका
      मोर - मोरनी
      सेठ - सेठानी
      घोड़ी - घोड़ा
      नाला - नाली
      मेंढक - मेंढकी
      गूंँगा - गूंँगी
      स्वामी - स्वामिनी
      पंडित - पंडिताइन
      चूहा - चुहिया
      बुद्धिमान - बुद्धिमती
      आदमी - औरत
      भिक्षुक - भिक्षुणी
      मुर्गा - मुर्गी
      वर - वधू
      सम्राट - साम्राज्ञी
      प्रिय - प्रिया
      शिष्य - शिष्या
      चौधरी - चौधराइन


2. वचन:
(क) वचन किसे कहते हैं?
उत्तर: विकारी शब्द का वह रूप जिससे उसकी संख्या का बोध होता है, वचन कहलाता है। वचन दो प्रकार के होते हैं एक वचन और बहुवचन।        
         जिस रूप से किसी एक व्यक्ति या वस्तु का बोध हो वह एकवचन कहलाता है। जैसे:- गाड़ी, पुस्तक, लड़का आदि।
         जिस रूप से किसी व्यक्ति या वस्तु की एक से अधिक संख्या का बोध हो वह बहुवचन कहलाता है। जैसे:- गाड़ियांँ, पुस्तके, लड़के आदि।



(ख) बहुवचन रूप लिखो:
     
      रात - रातें                    2020
      गधा - गधे                   2020
     अध्यापिका - अध्यापिकाए 2020
      तिथि - तिथियांँ 2020
     
      स्त्री - स्त्रियांँ
      डिब्बा - डिब्बे
      पुस्तक - पुस्तकें
      गौ - गौएँ
      मंत्री - मंत्रियों
      नदी - नदिया
      रास्ता - रास्ते
      माला - मालाएंँ
      छात्र - छात्राएंँ
      आंख - आंखें
      बेटा - बेटे
      ग्रंथ - ग्रंथों
     कौवा - कौए
     शिक्षिका - शिक्षिकाएंँ
     एक - अनेक
     कन्या - कन्याएँ
     सेना - सेनाएंँ
     कमरा - कमरे
     पत्ता - पत्ते
     कपड़ा - कपड़े
     तारा - तारे
     वस्तु - वस्तुएंँ
     विद्यार्थी - विद्यार्थीगण

3. पर्यायवाची शब्द:
(क) पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं?
उत्तर: एक ही शब्द के एक से अधिक अर्थ वाले शब्दों को पर्यायवाची या समानार्थक शब्द कहते हैं।



(ख) पर्यायवाची शब्द लिखो:

      अमृत - सोम, अमिय        2020
      गणेश - गदाधर, गजानन   2020
      मेघ - बादल, घन             2020
      राजा - भूप, नरेश            2020
      मृत्यु - मौत, देहांत           2020 
      सर्प- सांँप, नाग              2020
      
      कृषक - किसान, खेतिहर 
      अग्नि - आग, ज्वाला
      चंद्रमा - चांँद, सुधाकर
      सूर्या - रवि, प्रभाकर
      शरीर - देह, अंग
      हवा - वायु, पवन
      धरती - पृथ्वी, धरा
      दिन - दिवस, दिवा
      आकाश - गगन, अंबर
      वृक्ष - पेड़, तरु
      जल - पानी, नीर
      पत्थर - प्रस्तर, शीला
      आंँख - नयन, नेत्र
      जीवन - प्राण, जान
      पक्षी - चिड़िया, खग
      पर्वत - पहाड़, गिरि
      नदी - नाद, सरिता
      जंगल - वन, अरण्य
      पति - स्वामी, प्रियतम
      पुत्र - बेटा, लड़का
      अंधकार - अंधेरा, तिमिर
      गंगा - सूरसरी, देवनदी
      धरती - भू ,धरा, पृथ्वी
      फूल - पुष्प, सुमन, कुसुम
      मनुष्य - मानव, आदमी
      विष्णु - केशव, गोविंद, माधव
      विशाल - विराट, बडा
      संसार - जगत, विश्व
      हिरण - मृग, सुरभी
      तलवार - कृपाण, करवाल
      किरण - रश्मि, कर



4. विपरीतार्थक शब्द:
(क) विपरीतार्थक शब्द किसे कहते हैं?
उत्तर: एक दूसरे के प्रतिकूल (उल्टा) अर्थवाले शब्द परस्पर विपरीतार्थक शब्द कहलाते हैं। इसे विलोम शब्द भी कहा जाता है। उदाहरण-
   
     आदि - अंत
     अंधकार - प्रकाश
     एकता - अनेकता
     उत्तम - अधम
     स्वाधीन - पराधीन
     प्रेम - घृणा
     बंधन - मुक्त
     हर्ष - शोक
     सफल - असफल
    उचित - अनुचित
    आकर्षण -विकर्षण
    उपाय - निरूपाय
    गुप्त - प्रकट
    पंडित -मूर्ख
    अमर - मृत्यु
    आरंभ - अंत
    आशा - निराशा
    आदर्श - यथार्थ
    कठोर - कोमल 
    कड़वा - मीठा
    कपूर - सपूत
    गंभीर - सहज
    अच्छाई - बुराई
    विश्वास - धोखा 
    आलसी - चुस्त

5. संधि:
(क) संधि किसे कहते हैं?
उत्तर: दो वर्णों के मेल से होने वाले विकारी को संधि कहते हैं। अर्थात दो अक्षर (स्वर या व्यंजन) के मेल से जो तीसरे शब्द का चयन होता है उसे संधि कहते हैं। जैसे:-                   हिम+आलय =हिमालय



(ख) संधि करो:
    अति + अधिक = अत्याधिक
    अति + उत्तम = अत्युत्तम
    महा + आत्मा = महात्मा
    मही + इंद्र =  महिंद्र
    सु + आगत = स्वागत
    विद्या + अर्थी = विद्यार्थी
    प्रति + एक = प्रत्येक
    गिरि + ईश = गिरीश



(ग) संधि विच्छेद करो:
    
     परमार्थ = परम + अर्थ।   2020
     यथोचित = यथा + उचित 2020
     स्वागत = सु + आगत      2020
     अत्यंत = अति + अंत      2020
     समानांतर = समान + अंतर
     शिक्षार्थी = शिक्षा + अर्थी
     शरणार्थी = शरण + अर्थी
     शिवालय = शिव + आलय
     धर्मात्मा = धर्म + आत्मा
     कवीन्द्र = कवि + इन्द्र
     देवेंद्र = देव + इंद्र
     महेंद्र = महा + इंद्र
     इत्यादि = इति + आदि


Reetesh Das

7 comments:



  1. Sir please solve my problem... पंडित की स्त्रीलिंग क्या होगा? पंडिताइन/ पंडितानी/ पंडिता

    ReplyDelete
    Replies
    1. 'पंडिताइन' आइन प्रत्यय का प्रयोग होगा। ऊपर प्रश्न(ख) लिंग परिवर्तन: में इसका उदाहरण दिया गया है।

      Delete
  2. Sir वाक्य- शुद्धि - इस समय आपकी आयु तीस वर्ष की है। इसका उत्तर क्या यह होगा? उत्तर: इस समय आपकी अवस्था तीस वर्ष की है।

    ReplyDelete
  3. Thank you sir pls post all the grammar of hslc class 10 all the important question answer

    ReplyDelete

Write your Comment